Home Corona Update कोरोना के डर के साए में, सड़क दुर्घटना ने ली 70 की...

कोरोना के डर के साए में, सड़क दुर्घटना ने ली 70 की जान

लखनऊ।कम समय में ज्यादा दूरी तय करने के लिए लगातार बेहतर सड़कें बनाई जा रही हैं. इन सड़कों से ही विकास के पैमाने को भी मापने की कोशिश की जाती है. वहीं सावधानी न बरतने की वजह से हो रहे ये सड़क हादसे विकास के पैमाने को आइना दिखाते नजर आ रहे हैं.
सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के अनुसार भारत में हर साल साढ़े चार लाख से अधिक सड़क हादसों में तकरीबन डेढ़ लाख लोग मारे जाते हैं।

यूपीडा के आंकड़ों के मुताबिक

लंबे एक्सप्रेस-वे पर गाड़ियों की रफ्तार बढ़ तो रही है, लेकिन यह रफ्तार लगातार लोगों को हादसे का शिकार भी बना रही है. एक्सप्रेसवेज इंडस्ट्रियल डेवलपर एथॉरिटी (यूपीडा) के आंकड़ों के मुताबिक लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर हर दिन औसतन पांच हादसे हो रहे हैं. इन हादसों में हर रोज लगभग दो लोगों की मौत भी हो रही है. इसके बावजूद जानलेवा रफ्तार का खेल बदस्तूर जारी है. हालाँकि लॉकडाउन के चलते इस साल मौतों का सिलसिला कम देखने को मिल है.

ओवरस्पीड बनती रही मौत का कारण

आए दिन गाड़ियों की ओवरस्पीड हादसों का कारण बनती जा रही है. हादसों से बचने के लिए वाहनों की गति सीमा भी निर्धारित की गई है, जिसके तहत हल्के वाहनों के लिए 100 किमी/घंटा और भारी वाहनों को 80 किमी/घंटा की स्पीड तय की गई है. इसके बावजूद एक्सप्रेस-वे पर लोग इन मानको को अनदेखा कर देते हैं, जिससे उन्हें अपनी जान गवानी पड़ती है.

accident

कोरोना के खिलाफ जंग में पूरा उत्तर प्रदेश

एक तरफ कोरोना के खिलाफ जंग में पूरा उत्तर प्रदेश जुटा हुआ है. तो वहीं लॉकडाउन का सख्ती से पालन भी किया जा रहा है. यही कारण है कि मार्च से शुरू हुए लॉकडाउन में अब तक दूसरे राज्यों की तुलना में यूपी में सबसे कम मौतें हुई हैं. यूपी में अब तक 95 लोगों की मौत हुई है. लेकिन 20 दिनों के अंदर ही उत्तर प्रदेश में लगभग 70 लोगों की सड़क दुघर्टना में मौत हो चुकी है और 200 से ज्यादा घायल हैं. बता दें इस दुघर्टना में ज्यादा तर प्रवासी मजदूर और कामगार लोग सामिल हैं. जो काम धंधा बंद होने के बाद दूसरे राज्यों से अपने घरों को लौट रहे थे.

मुख्य मंत्री की लोगों से अपील

उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री सीएम योगी कोरोना के कारण हो रही दुर्घटनाओं को गंभीरतापूर्वक लेते हुए. वह लगातार लोगों से अपील भी कर रहे हैं. लेकिन इसे बावजूद समस्या जस की तस बनी हुई है. किसी भी हाईवे पर निकल जाइए लगातार लोगों के घर लौटने का सिलसिला जारी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here